01/07/2019 जून 2019 में जीएसटी के रूप में 99,939 करोड रूपए का राजस्‍व संग्रह

जून2019 के महीने में वस्‍तु एंव सेवा कर के रूप में 99,939 करोड़ रूपए का सकल राजस्व संग्रह किया गया  जिसमें केन्‍द्रीय वस्‍तु एंव सेवा कर  (सीजीएसटी)  18,366 करोड़ रूपए, 

 
12/07/2018 अगरबत्ती उद्योग में महिला शक्ति को बढ़ावा देने के लिए जेडब्लैक ने देशव्यापी अभियान शुरू किया

नई दिल्ली,12 जुलाई 2018:- क्वालिटीयुक्त सुगंधित अगरबत्तियों की लीडर, जेड ब्लैक ने ‘‘अगरबत्ती उद्योग में महिला शक्ति” को बढ़ावा देने वाले देशव्यापी अभियान के साथ  मुंबई में एक किफायती और उच्च कोटि प्रीमियम सेगमेंट, ‘जेड ब्लैक लक्ज़री लॉन्च किया। यह रोड शो मुंबई से प्रारंभ होकर होटल हंस पहुचा और अब यह देहरादून, भुवनेश्वर, रांची और पटना जैसे शहरों में जाएगा। अगरबत्ती निर्माता अंकित अग्रवाल ने कहा, ‘‘अगरबत्ती व्यवसाय में महिला शक्ति जुड़ने से वो

 
07/02/2018 जीएसटी परिषद ने सर्कस, नृत्‍य और नाट्य मंचन पर जीएसटी में राहत देने की सिफारिश की

जीएसटी परिषद ने 18 जनवरी, 2018 को आयोजित अपनी बैठक में जीएसटी छूट के उद्देश्‍य से यह सिफारिश की है कि नाटक अथवा नृत्‍य, पुरस्‍कार समारोहों, पेजेंट, संगीत कार्यक्रमों,संगीत समारोह और मान्यता प्राप्त खेल आयोजनों के लिए प्रवेश टिकट पर छूट मूल्‍य सीमा प्रति व्‍यक्ति 250 रुपये से बढ़ाकर 500 रुपये की जा सकती है। परिषद ने यह भी सिफारिश की है कि तारामंडल में प्रवेश को भी प्रति व्‍यक्ति 500 रुपये तक की इस छूट सीमा का लाभ दिया जा सकता है।

 

07/02/2018 मनोरंजन पार्कों और बैले में प्रवेश पर जीएसटी दर घटी।

जीएसटी परिषद ने 18 जनवरी, 2018 को आयोजित अपनी बैठक में थीम पार्कों, वाटर पार्कों, ज्‍वॉय राइड, मेरी-गो-राउंड और नृत्‍य नाटक (बैले) सहित मनोरंजन पार्कों में प्रवेश से संबंधित सेवाओं पर जीएसटी दर 28 प्रतिशत से घटाकर 18 प्रतिशत कर दी है।  इन सेवाओं पर अब तक 28 प्रतिशत की दर से वस्‍तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लगाया जाता था। कई हलकों से प्राप्‍त अनुरोधों में यह दलील दी गई थी कि मनोरंजन पार्क सामाजिक माहौल को बेहतर करने के साथ-साथ सक्रिय रूप से मिलने वाले मनोरंजन के रूप में बच्‍चों एवं उनके परिवारों को भरपूर आनंद उठाने का मौका देते हैं, इसलिए इन पर लगने वाली जीएसटी दर घटाकर 18 प्रतिशत की जा सकती है। जीएसटी परिषद की इन सिफारिशो

 
07/02/2018 आप इस्तेमाल करें उतना ही भुगतान करें पायलट परियोजना की शुरूआत

भारत में टोल के लिए "जितना आप इस्तेमाल करें उतना ही भुगतान करें" से संबंधित बजट में की घोषणा के कार्यान्वयन के लिए मार्ग प्रशस्त करते हुए, भारत में राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने प्रणाली की कार्यान्वयन क्षमता का अध्ययन करने के लिए एक पायलट परियोजना का कार्यान्वयन कर रहा है।इस पायलट परियोजना के अंतर्गत दिल्ली-मुम्बई राष्ट्रीय राजमार्ग पर लगभग 500 वाणिज्यिक वाहनों के लिए जीपीएस / जीएसएम तकनीक पर चल रहे उपग्रह आधारित इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह प्रणाली को लागू करना शामिल है। यह परियोजना एक वर्ष तक चलेगी।

मोबाइल दूरसंचार प्रौद्योगिकी (ज

 
17/12/2017 महिलाओं की सुरक्षा व सम्मान के लिए गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने दिलवाई शपथ

नई दिल्ली। महिला सुरक्षा जागरूकता के लिए  के दिल्ली पुलिस द्वारा एक अनूठी मैराथन महिलाओं की सुरक्षा व उनके साथ होने वाले अपराधों को रोकने के प्रति दिल्लीवासियों को जागरूक करने के लिए दिल्ली पुलिस एवम् लाडली फाउंडेशन गैर सरकारी संस्था द्वारा आज दिल्ली के जवाहर लाल नेहरु स्टेडियम से से  एक अनूठी मैराथन का आयोजन किया गया जिसमे दिल्ली के आसपास के क्षेत्रों से लगभग 15 हजार से अधि

 
17/12/2017 नेशनल गौरव अवार्ड 2017 से सम्मानित हुए समाजसेवी सौमेन कोले


नई दिल्ली।प्रधानमंत्री की नई सोच नई उम्मीद की थीम पर आधारित भारतीयता का उत्सव नेशनल गौरव अवार्ड 2017 का आयोजन गैर सरकारी संगठन इंडियन ब्रेवहार्ट्स द्वारा विज्ञान भवन में किया गया । इस मौके पर डाक्टर महेश, एचएच पूज्य चीदानन्द ,पूज्या साध्वी डाक्टर भगवती, इमाम उमर, समेत अन्य गणमान्य लोगो ने समाजसेवी सौमेन कोले समेत 11 राज्यों की 32 संस्थाओं और गणमान्यों लोगों को उत्कृष्ट प्रदर्शन करने के लिए सम्मानित किया गया। मौके पर तपशिल जाति आदिवासी प्रकटन सैनिक कृषि बिकास शिल्प केंद के सचिव सौमेन कोले ने कहा कि यह अवार्ड हमारे लिए गौरव की बात है।कोले ने बताया कि यह अवार्ड बंगाल के उन 18 जिलों के आदिवासी व समाज के गरीब बालिकाओं को समर्पित है जिनके लिए काम करने का मौका हमें मिला हैं । इसी तरह मो

 
16/12/2017 अकोला जिले में नागरिक महसूस कर रहे स्वयं को असुरक्षित

अकोला (महाराष्ट्र)जिले में जहां बेखौफ अपराधी अपराधीकघटनाएं अंजाम दे रहे हैं वहीं बढते अपराधिक घटनाओं से जिला वासियों मेंअसुरक्षा की भावना बढती जा रही है, इस के बावजूद पुलिस प्रशासन कानून व्यवस्था को लेकर संजीदा दिखाई नहींदे रही है।जानकारी के अनुसार शहर के विविध परीसर में अवैध धंदे जोरों पर हैं,नएगुन्हेगार सिर उठा रहे हैं, इन सब वारदातो के पीछे कौन जिम्मेदार है? इन सब मामलों मे

 
16/12/2017 न्यायालय ने तीस्ता सीतलवाड़ की याचिका की खारिज

 
15/12/2017 आईएएस चाहते हैं कि भ्रष्टाचार निरोधक एक्ट में बदलाव

 



Copyright @ 2019.